मेजर
सदीप उन्नीकृष्णन

 (राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) के एलीट 51 स्पेशल टास्क ग्रुप)

 (15 मार्च 1977 - 28 नवंबर 2008)

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) के एलीट 51 स्पेशल टास्क ग्रुप में सेवारत मेजर संदीप उन्नीकृष्णन भारतीय सेना में एक अधिकारी थे, जो नवंबर 2008 में मुंबई में हुए एक आतंकी हमलें में वो शहीद हो गए। 

मेजर संदीप उन्नीकृष्णन का जन्म 15 मार्च 1977 (मंगलवार) को केरल राज्य के कोझीकोड जिले के चेरुवन्नूर में हुआ, वो बैंगलोर में रहने वाले एक मलयाली परिवार से आते है।

बचपन से उनका एक ही सपना था, आर्मी ऑफिसर बनना और अपने देश की सेवा करना। मेजर संदीप उन्नीकृष्णन ने कारगिल युद्ध में भी भाग लिया था।

मेजर संदीप उन्नीकृष्णन ने जुलाई 1999 में ऑपरेशन विजय (Operation Vijay) में हिस्सा लिया था, जब पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र में प्रवेश किया और कारगिल का युद्ध छिड़ गया।

1999 के कारगिल युद्ध के बाद Major Sandeep Unnikrishnan भारत और पाकिस्तान के बीच दूसरे बड़े सैन्य गतिरोध ऑपरेशन पराक्रम (Operation Parakram) का भी हिस्सा थे।

26 नवंबर 2008 की रात को पाकिस्तानी आतंकियों ने मुंबई के ताज होटल पर हमला कर कई लोगों को बंधक बना लिया था, मेजर संदीप बंधकों को छुड़ाने के लिए होटल में तैनात 51 स्पेशल एक्शन ग्रुप के टीम कमांडर थे।

आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में, वह अकेले ही चार आतंकवादियों को ताजमहल होटल के उत्तरी बॉलरूम में एक कोने में ले जाने में कामयाब रहे, लेकिन इस दौरान उन्होंने अपने जीवन का सर्वोच्च बलिदान दिया।

26 जनवरी, 2009 को उन्हें राष्ट्रपति प्रतिभाताई पाटिल जी द्वारा भारत के सर्वोच्च शांतिकालीन वीरता पुरस्कार अशोक चक्र से सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG)में सेवारत मेजर संदीप उन्नीकृष्णन के बारे में अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करे

Major Sandeep Unnikrishnan