ओला के संस्थापक भाविश अग्रवाल जीवनी | Ola Founder Bhavish Aggarwal Biography in Hindi 2022

Ola Founder Bhavish Aggarwal (ओला के फाउंडर भाविश अग्रवाल), Bhavish Agarwal Family and Early Life, कंपनी शुरू करने की प्रेरणा ऐसे मिली, लोगों ने मजाक उड़ाया, फिर भी हार नहीं मानी, नौकरी छोड़कर ओला कैब (OLA Cabs) सर्विस शुरू की, अपनी कार आज भी नहीं खरीदी।

कभी माइक्रोसॉफ्ट की नौकरी छोड़कर ट्रेवल का काम किया, इस लेख में जानते है, Ola Founder Bhavish Aggarwal (ओला के फाउंडर भाविश अग्रवाल) के जीवन की प्रेरक कहानी, जिनका आज करोड़ों का कारोबार है।

“अगर आप उड़ना चाहते हैं, तो अपना आकाश खोजें, भीड़ से अलग अपनी पहचान खोजें।”

इसे साबित करने का काम Ola Founder Bhavish Aggarwal ने किया है। जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से ओला कैब को आज भारत की सबसे सफल कंपनियों में से एक होने का गौरव बहुत ही कम समय में हासिल कराया है।

Ola Founder Bhavish Aggarwal Biography in Hindi

Ola Founder Bhavish Aggarwal Biography in Hindi | ओला के संस्थापक भाविश अग्रवाल की जीवनी

Ola Founder Bhavish Aggarwal ने कम्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की है। उन्होंने अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट की अच्छी खासी नौकरी भी छोड़ दी थी। Bhavish Aggarwal ने किराए पर मिलनेवाली ओला कैब्स (Ola Cabs) लॉन्च करके आज अरबों की कंपनी बनाई है। अपने संघर्ष से अपनी सफलता की कहानी लिखने वाले भावेश अग्रवाल के लिए आसमान की ऊंचाइयों को छूना इतना आसान नहीं था। आइए जानते हैं उनके जीवन के प्रेरणादायक सफर के बारे में।

नाम (Name)भाविश अग्रवाल
जन्म की तारीख28 अगस्त 1985
उम्र (Age)38 वर्ष (2022 तक)
जन्म स्थानलुधियाना, पंजाब
वर्तमान निवासमुंबई, महाराष्ट्र
राष्ट्रीयताभारतीय
शिक्षाBachelor’s degree in Computer Science
महाविद्यालयIndian Institute of Technology Bombay
प्रोफेशनBusiness Owner (OLA cab)
नेटवर्थ$500 मिलियन (2021 तक)
ओला नेट वर्थ$6.5 बिलियन (जून 2021 तक)
ईमेल आईडी[email protected]
WebsiteOLA Cabs
Ola Electric

Bhavish Agarwal Family and Early Life | भाविश अग्रवाल परिवार और प्रारंभिक जीवन

Ola Founder Bhavish Agarwal का जन्म 25 अगस्त 1985 को पंजाब के लुधियाना शहर में एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ। बचपन से ही वो कुछ अलग करना चाहते थे। उन्होंने कंप्यूटर साइंस में बी-टेक इंजीनियरिंग की डिग्री मुंबई के Indian Institute of Technology से हासिल की।

उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च इंडिया (Microsoft Research India) के साथ एक रिसर्च इंटर्न के रूप में अपने करियर की शुरुआत की, और बाद में उन्हें Assistant Researcher के रूप में फिर से नियुक्त किया गया। रिसर्च के दौरान उन्हें इसके लिए दो पेटेंट भी मिले थे, लेकिन वे इस नौकरी में खुश नहीं थे क्योंकि वे कुछ अलग करना चाहते थे। वो भीड़ से अलग दिखना चाहते थे और अपनी एक खास पहचान बनाना चाहते थे।

पिताजी का नामनरेश कुमार अग्रवाल
माताजी का नामउषा अग्रवाल
भाई का नामअंकुश अग्रवाल
पत्नी का नामराजलक्ष्मी अग्रवाल

कंपनी शुरू करने की प्रेरणा ऐसे मिली

ओला के संस्थापक भाविश अग्रवाल एक बार माइक्रोसॉफ्ट में काम करने के दौरान कहीं घूमने चले गए थे। इस सफर का अनुभव उनके लिए बेहद खराब साबित हुआ। बेंगलुरु से बांदीपुर जाने के लिए उन्होंने एक कार बुक की थी, जिसकी सर्विस बहुत ही खराब थी। जब उन्होंने बैंगलोर से बांदीपुर की यात्रा शुरू की, ड्राइवर ने उनसे आधे रास्ते में ही तय से अधिक पैसे की मांग करना शुरू कर दिया। मना करने पर उस ड्राइवर ने उसके साथ बदसलूकी की। जिससे वह बीच सफर में ही उतर गए और बाकी का सफर उन्होंने बस से तय किया।

जब Bhavish Aggarwal बस में आगे का सफ़र तय कर रहे थे, तो उनके दिमाग में सिर्फ एक ही ख्याल आ रहा था कि ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जिन्हें कार की अच्छी सर्विस नहीं मिल रही होगी और उनके साथ भी ऐसा ही हो रहा होगा। तभी उन्होंने महसूस किया कि उनकी तरह अन्य ग्राहक भी एक अच्छी कैब सेवा की तलाश में होंगे जो उन्हें गुणवत्तापूर्ण सेवा प्रदान कर सके।

लोगों ने मजाक उड़ाया, फिर भी हार नहीं मानी

जब Bhavish Aggarwal ने अपना स्टार्टअप बिज़नेस शुरू करने के बारे में सोचा, तो उनके दोस्त और रिश्तेदार उनका मजाक उड़ाने लगे, उनके इस फैसले को लेकर उनके परिवार ने भी कई सवाल खड़े किए थे। शुरुआत में उनके माता-पिता को लगा कि इतनी पढ़ाई और नौकरी छोड़कर वो ट्रैवल एजेंट बनने की सोच रहे है, लेकिन श्री भाविश अग्रवाल किसी की बातों की परवाह किये बिना अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते चले गए।

नौकरी छोड़कर ओला कैब (OLA Cabs) सर्विस शुरू की

Ola Cabs

Bhavish Aggarwal ने Microsoft की नौकरी छोड़कर, अपने IITian दोस्त अंकित भाटी जो जोधपुर के रहनेवाले थे उनके साथ मिलकर, olatrips.com वेबसाइट शुरू की, जो आउट स्टेशन ट्रिप्स के लिए कैब प्रदान कराती थी। उन्होंने 2011 में मुंबई के पवई में 1 BHK फ्लैट में अपने बिज़नेस की शुरुआत की। शुरू में उन्हें कई सारे दिक्कतों का सामना करना पड़ा, उन्होंने अपने बिज़नेस में अपनी महिला मित्र (अब उनकी पत्नी) की कार का भी इस्तेमाल किया।

ओला को स्नैपडील के संस्थापक कुणाल बहल, रेहान यार खान और अनुपम मित्तल से पहले राउंड की फंडिंग मिली। इसके बाद फंडिंग की प्रक्रिया शुरू हुई। ओला को अब तक 48 निवेशकों से 26 राउंड की फंडिंग में 430 करोड़ डॉलर, यानी करीब 32 हजार करोड़ रुपए की फंडिंग मिल चुकी है। 3,700 करोड़ की नवीनतम फंडिंग 9 जुलाई 2021 को एक प्राइवेट इक्विटी से प्राप्त हुई है।

अपनी कार आज भी नहीं खरीदी

ओला के फाउंडर भाविश अग्रवाल की कंपनी OLA कैब्स ने आज तक एक भी कार नहीं खरीदी है, उन्होंने सभी कैब किराए पर ली हैं और और अपना बिज़नेस उनके माध्यम से ही चला रहे हैं। उन्होंने ड्राइवरों और टैक्सी मालिकों के साथ साझेदारी (Partnership) की है, ताकि पूरे भारत में यात्रियों को विभिन्न प्रकार की कैब सेवाएं प्रदान कर सके।

अपनी कैब कंपनी की सफलता को देखकर भावेश अग्रवाल ने फैसला किया था कि वह कभी भी अपनी कार नहीं खरीदेंगे। इतना पैसा कमाने के बाद भी आज वह OLA कैब से ही सफर करते हैं।

सफलता की नई कहानियां लिखते गए

OLA Cab कंपनी के सफल लॉन्च के बाद भाविश अग्रवाल नई-नई कहानियां लिखते गए। साल 2015 में, कंपनी ने ओला फ्लीट (Ola Fleet ) नामक एक कैब लेंडिंग शाखा (cab lending arm) भी शुरू की, जो OLA कैब्स की मूल कंपनी ANI Technologies Pvt Ltd की सहायक कंपनी है।

साल 2016 में, कंपनी ने एक और प्रमुख सेवा Ola Play लॉन्च की, जो दुनिया का पहला कनेक्टेड कार प्लेटफॉर्म बन गया, कम्यूटिंग अनुभवों को बदलकर जो इस स्पेस में ग्लोबल इनोवेशन के लिए कम्यूटिंग अनुभवों को बदलकर टोन सेट कर रहा है।

Facts About Bhavish Bhavish Agarwal | भाविश अग्रवाल के बारे में तथ्य

  • वह एक IITian हैं, जिन्होंने 2008 में IIT, बॉम्बे से कंप्यूटर इंजीनियरिंग की थी।
  • एक इंटर्न शोधकर्ता के रूप में माइक्रोसॉफ्ट में नौकरी करते हुए, उन्होंने दो पेटेंट और कुछ अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं को पंजीकृत किया।
  • उनका जन्म लुधियाना पंजाब में एक बनिया परिवार में हुआ था।
  • उन्होंने AIR-JEE परीक्षा में 23वीं रैंक हासिल की।
Ola Founder Bhavish Aggarwal Wife

Bhavish Agarwal Social Media | भाविश अग्रवाल सोशल मीडिया

TwitterBhavish Aggarwal
InstagramBhavish Aggarwal

आज, ओला भारत में सबसे तेजी से बढ़ने वाली कैब और ऑटो बुकिंग सेवा देने वाली कम्पनी बन चुकी है।अगर आपके पास अपनी यात्रा शुरू करने की इच्छा और दृढ़ संकल्प है तो कुछ भी असंभव नहीं है, Ola Founder Bhavish Aggarwal के सफलता की कहानी (Success Story) इस बात का प्रमाण है।

अन्य पढ़ें –

सामान्य प्रश्न:

Que: भाविश अग्रवाल ने OLA की शुरुआत कैसे की?

Ans: भाविश अग्रवाल ने अपनी OLA की शुरुआत एक विचार से शुरू की, जब उन्हें एक ड्राइवर ने उनकी सवारी के दौरान बिच रास्ते में रोक दिया और अधिक पैसे की मांग की। उस समय उन्हें यह विचार आया कि ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जिन्हें कार की अच्छी सर्विस नहीं मिल रही होगी और उनके साथ भी ऐसा ही हो रहा होगा। तभी उन्होंने महसूस किया कि उनकी तरह अन्य ग्राहक भी एक अच्छी कैब सेवा की तलाश में होंगे जो उन्हें गुणवत्तापूर्ण सेवा प्रदान कर सके। इसलिए ओला की शुरुआत अपने दोस्त अंकित भाटी के साथ की।

Que: क्या भाविश अग्रवाल अरबपति हैं?

Ans: हां, वह भारत के शीर्ष अरबपतियों में से हैं। 2018 में, उन्हें भारत के 11वें सबसे प्रभावशाली व्यक्ति के रूप में सूचीबद्ध किया गया था। उनकी निजी संपत्ति $500 मिलियन से अधिक है।

Que: भाविश अग्रवाल किस लिए प्रसिद्ध हैं?

Ans: भाविश अग्रवाल अपनी स्टार्टअप कंपनी OLA के लिए सबसे ज्यादा मशहूर हैं, जिसकी शुरुआत 2008 में उनके दोस्त अंकित भाटी के साथ की थी।

Que: भाविश अग्रवाल का मासिक और वार्षिक वेतन क्या है?

Ans: भाविश अग्रवाल का मासिक वेतन 15 करोड़ रुपये से अधिक और वार्षिक आय / वेतन 180 करोड़ रुपये से अधिक है।

Q: ओला के सीईओ कौन हैं?

Ans: भाविश अग्रवाल ओला के वर्तमान सीईओ हैं।

Que: ओला इंडिया का मालिक कौन है?

Ans: भाविश अग्रवाल और अंकित भाटी ओला के मालिक हैं।

Que: क्या भाविश अग्रवाल शादीशुदा हैं?

Ans: जी हां, उन्होंने राजलक्ष्मी अग्रवाल से शादी की है।

Rate this post
Default image

D DEEPAK

मेरा नाम दिपक देवरुखकर हैं, और मैं महाराष्ट्र के मुंबई शहर विरार का रहने वाला हूँ। मैंने Visual and Communication Art, Worli, Mumbai से डिप्लोमा किया हैं। और अभी मै एक Advertising Agency में As A Graphic Visualizer के रूप में काम कर रहा हु। मुझे पढ़ने और लिखने का शौक है।

Articles: 37

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: