भारतीय क्रिकेटर झूलन गोस्वामी जीवनी | Cricketer Jhulan Goswami Biography in Hindi 2022

Indian Cricketer Jhulan Goswami Biography in Hindi (भारतीय क्रिकेटर झूलन गोस्वामी जीवनी), Jhulan Goswami Birth, Age, Height, Family, Early Life, Career, Coaching Career, Awards, Honours and Titles

कभी महिलाओं के लिए खेल खेलने के बारे में सोचना भी बहुत मुश्किल था, ऐसे समय में भारतीय क्रिकेटर झूलन गोस्वामी ने क्रिकेट खेलना शुरू किया था, आज है दुनिया की सबसे तेज गेंदबाज।

भारत में क्रिकेट भावनाओं का खेल है, और हमारे देश में ऐसे कई महान क्रिकेट खिलाड़ी हैं जिन्हें हम भूल नहीं सकते। महिला क्रिकेट टीम की ऐसी ही एक खिलाड़ी हैं जिनका नाम है झूलन गोस्वामी। आइए इस लेख में, एक नजर डालते हैं उनकी उम्र, परिवार, क्रिकेट करियर आदि पर।

Indian-Cricketer-Jhulan-Goswami-Biography-in-Hindi

Indian Cricketer Jhulan Goswami Biography in Hindi | भारतीय क्रिकेटर झूलन गोस्वामी जीवन परिचय

Indian Cricketer Jhulan Goswami अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर है, जो भारतीय राष्ट्रीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान हैं। उन्हें अब तक की सबसे महान महिला तेज गेंदबाजों में से एक माना जाता है। कैथरीन फिट्जपैट्रिक के संन्यास के बाद वह सबसे तेज समकालीन गेंदबाज हैं। हाल ही में अनुष्का शर्मा ने चकड़ा एक्सप्रेस का फर्स्ट लुक टीजर शेयर किया है, जो भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान झूलन गोस्वामी की बायोपिक है।

पूरा नामझूलन निशित गोस्वामी
निक नामबाबुल, गोज्जी
प्रोफेशनक्रिकेटर (ऑलराउंडर)
जन्म की तारीख25 नवंबर 1982
उम्र (Age)39 साल (2022 तक)
जन्म स्थानचकदाहा नादिया, पश्चिम बंगाल, भारत
वर्तमान निवासचकदाहा नादिया, पश्चिम बंगाल, भारत
राष्ट्रीयताभारतीय
धर्म (Religion)हिंदू धर्म
राशि चक्रधनु (Sagittarius)

Jhulan Goswami Family and Early Life | झूलन गोस्वामी परिवार और प्रारंभिक जीवन

25 नवंबर 1982 को, पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के चकदाहा में एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मी Indian Cricketer Jhulan Goswami ने 15 साल की उम्र में क्रिकेट को अपना लिया था। 1992 का क्रिकेट विश्व कप टीवी पर देखने के बाद उन्होंने क्रिकेट में रुचि लेना शुरू कर दिया। और जब उन्होंने 1997 के महिला क्रिकेट विश्व कप में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बेलिंडा क्लार्क को खेलते देखा, तो उन्होंने क्रिकेट के क्षेत्र में आगे बढ़ने फैसला किया।

उस समय महिलाओं का क्रिकेट के प्रति झुकाव और क्रिकेट खेलने की उनकी इच्छा को ज्यादा मान्यता नहीं दी जाती थी। लेकिन, उनके बुलंद हौसले के आगे कठिनाइयों को भी झुकना पड़ा। अपने परिवार वालों को मनाने के बावजूद भी उन्हें परिवार से ज्यादा सहयोग नहीं मिला।

उसी समय, Indian Cricketer Jhulan Goswami के जीवन में एक नई किरण के रूप में उनके क्रिकेट कोच स्वपन साधु आये, जिन्होंने उनकी प्रतिभा और क्रिकेट के प्रति उनका लगाव देखकर उन्होंने झूलन गोस्वामी के परिवार के सदस्यों को उनकी प्रतिभा से अवगत कराया, जिससे उन्हें एक नई उड़ान भरने का मौका मिला। लेकिन उस समय उनके चकदहा गांव में क्रिकेट की कोई सुविधाना होने के कारण वह क्रिकेट प्रशिक्षण के लिए कोलकाता चली गईं।

पिताजी का नामनिशित गोस्वामी
माताजी का नामझरना गोस्वामी

Jhulan Goswami Physical Stats | झूलन गोस्वामी फिजिकल स्टेटस

कद (हाईट)5 फुट, 11 इंच
वज़न70kg
बालों का रंगकाला (Black)
आँखों का रंगकाला (Black)

Jhulan Goswami Career | झूलन गोस्वामी करियर

कोलकाता में अपना प्रशिक्षण पूरा करने के बाद, Jhulan Goswami को बंगाल महिला क्रिकेट टीम में बुलाया गया। 6 जनवरी 2002 को, उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अपना एकदिवसीय (ODI) अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पदार्पण चेन्नई में, और टेस्ट क्रिकेट पदार्पण 14 जनवरी 2002 को, लखनऊ में किया।

बल्लेबाजी शैलीदाएं हाथ की बल्लेबाज
गेंदबाजी शैलीदाएं हाथ के मध्यम तेज
रोल (Role)मध्यम तेज गेंदबाज
अंतर्राष्ट्रीय डेब्यूटेस्ट – 14 जनवरी 2002 बनाम इंग्लैंड महिला लखनऊ में
वनडे – 6 जनवरी 2002 बनाम इंग्लैंड महिला चेन्नई में,
टी20 – 5 अगस्त 2006 बनाम इंग्लैंड महिला डर्बी में’
कोच (Coach)स्वपन साधु
जर्सी नंबर25 (भारत)
घरेलू/राज्य टीमएशिया महिला XI, बंगाल महिला, पूर्वी क्षेत्र महिला,

2006 में, Jhulan Goswami को इंग्लैंड दौरे से पहले राष्ट्रीय टीम का नेतृत्व करने के लिए उप-कप्तान के रूप में चुना गया। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अपनी पहली जीत के साथ भारत को टेस्ट श्रृंखला जीतने में मदद की। लीसेस्टर (Leicester) में पहले टेस्ट में, उन्होंने एक नाइटवॉचमैन के रूप में अर्धशतक (69 रन) बनाया, और टॉन्टन (Taunton) में दूसरे टेस्ट में, अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड [78 रन देकर 10 विकेट लिये (33-5 और 45-5)] बनाया। इस सफलता के कारण, वह प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ बनीं और सितंबर में मुंबई में कैस्ट्रोल अवार्ड्स में भी उन्हें पहचान मिली, जो उनके लिए एक विशेष पुरस्कार था।

Indian-Cricketer-Jhulan-Goswami-Biography

Indian Cricketer Jhulan Goswami की तेज गेंदबाजी की वजह से लोग उन्हें ‘नदिया एक्सप्रेस’ के नाम से जानने लगे। इसके अलावा, 2007 में उन्होंने ICC विमेंस प्लेयर ऑफ़ द ईयर का पुरस्कार जीता। यह वह वर्ष था जब किसी भी भारतीय पुरुष खिलाड़ी को कोई व्यक्तिगत पुरस्कार नहीं मिला था। इसके तुरंत बाद, 2008 में उन्होंने मिताली राज से राष्ट्रीय टीम की कप्तानी संभाली 2011 तक इसे संभाला।

मई 2017 में, Jhulan Goswami ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ PUK ओवल, Potchefstroom में अपना 181 वां विकेट लिया और ऑस्ट्रेलिया की कैथरीन फिट्ज़पैट्रिक (Cathryn Fitzpatrick) को पछाड़कर एकदिवसीय मैचों में अग्रणी विकेट लेने वाली गेंदबाज बन गईं। वह 2017 महिला क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में पहुंचने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा थीं, जहां भारतीय टीम इंग्लैंड से 9 रन से हार गई थी।

Indian Cricketer Jhulan Goswami सितंबर 2018 में, श्रीलंका के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना 300वां विकेट लिया। गोस्वामी को मई 2021 में, इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम के खिलाफ उनके एकमात्र मैच के लिए भारत के टेस्ट टीम में नामित किया गया था। साथ ही उन्हें जनवरी 2022 में, न्यूजीलैंड में महिला क्रिकेट विश्व कप 2022 के लिए भारतीय टीम में चुना गया है। उन्होंने अगस्त 2018 में महिला ट्वेंटी 20 अंतरराष्ट्रीय ((WT20I)) से संन्यास की घोषणा की।

प्रतियोगिताWTestWODIWT20I
मैच (Matches)1219968
स्कोर (Scored)2911226405
बल्लेबाजी औसत24.2514.7810.94
100s/50s0/20/10/0
शीर्ष स्कोर695737*
फेंकी गईं गेंदें2,2669,7411,351
विकेट4425056
गेंदबाजी औसत17.3621.8321.94
पारी में 5 विकेट321
मैच में 10 विकेट100
सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी5/256/315/11
कैच/स्टंपिंग5/–68/–23/–

Jhulan Goswami Coaching Career | झूलन गोस्वामी कोचिंग करिअर

Indian Cricketer Jhulan Goswami की सेवानिवृत्ति के बाद, उन्हें मुख्य कोच रमेश पोवार के अधीन भारतीय महिला राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए एक गेंदबाजी सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया है, वह भारतीय टीम में बतौर खिलाड़ी कोच का काम भी कर रही हैं।

Jhulan Goswami Awards and Honours | झुलन गोस्वामी पुरस्कार आणि सन्मान

  • 2007: ICC महिला क्रिकेटर ऑफ द इयर
  • 2008 – 2011: भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान
  • 2010: अर्जुन पुरस्कार
  • 2012: पद्मश्री पुरस्कार
  • सबसे तेज गेंदबाज
  • लीडिंग इंटरनेशनल विकेट टेकर

Jhulan Goswami Favorite Things | झूलन गोस्वामी पसंदीदा चीजें

पसंदीदा बल्लेबाजसचिन तेंदुलकर
पसंदीदा गेंदबाजग्लेन मैक्ग्रा
पसंदीदा महिला क्रिकेटरबेलिंडा क्लार्क
पसंदीदा कमेंटेटरसुनील गावस्कर
पसंदीदा गंतव्य (Destination)लंदन
पसंदीदा फूडचाईनीज़
शौक (Hobbies)फुटबॉल और फिल्में देखना, पढ़ना

Some Facts About Jhulan Goswami | झूलन गोस्वामी के बारे में कुछ तथ्य

  • हाई आर्म एक्शन और उनकी गति के साथ-साथ घरेलू प्रारूप में निरंतरता ने उनके लिए नीली वर्दी में दिखना संभव बना दिया।
  • 2008 एशिया कप में एकदिवसीय क्रिकेट में 100 विकेट लेने वाली वह चौथी महिला बनीं।
  • 2010 में, उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और 2012 में, डायना एडुल्जी के बाद पद्मश्री प्राप्त करने वाली दूसरी भारतीय महिला क्रिकेटर बनीं।
  • उनके नाम 10 मैचों में 40 टेस्ट विकेट हैं, और 223 मैचों में उन्होंने 271 अंतरराष्ट्रीय विकेट के साथ 1593 रन बनाए हैं, जिसमे तीन अर्धशतक शामिल है।
  • उन्हें नवंबर 2020 में ICC महिला ODI क्रिकेटर ऑफ़ द डिकेड अवार्ड के लिए नामांकित किया गया था।
  • टेस्ट और एकदिवसीय दोनों प्रारूपों में उनका औसत 22 से नीचे था, जिसके लिए झूलन को 2007 में एमएस धोनी द्वारा आईसीसी महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर का पुरस्कार मिला।
  • झूलन गोस्वामी के सर्वश्रेष्ठ महिला T20I गेंदबाजी के आंकड़े 4 ओवर में सिर्फ 11 रन देकर 5 विकेट हैं।

Jhulan Goswami Biopic | झूलन गोस्वामी बायोपिक

पूर्व भारतीय कप्तान Jhulan Goswami की Biopic का नाम चकड़ा एक्सप्रेस (Chakda ‘Xpress) है। जिसमे बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा झूलन गोस्वामी का किरदार निभा रही है। इस फिल्म को अभिषेक बॅनर्जी ने लिखा है, और इसका दिग्दर्शन प्रोसित रॉय ने किया है। यह फिल्म अगले साल 02 फरवरी 2023 को सिनेमाघरों में दस्तक देगी।

Indian-Cricketer-Jhulan-Goswami-Biopic_Chakda-Xpress

झूलन ने क्रिकेटर बनने और अपने देश को वैश्विक मंच पर गौरवान्वित करने का फैसला ऐसे समय में किया, जब महिलाओं के लिए खेल खेलने के बारे में सोचना भी बहुत मुश्किल था।

झूलन का क्रिकेट करियर बहुत ही संघर्षपूर्ण रहा, फिर भी वह अपने देश को गौरवान्वित करने के लिए प्रेरित रहीं। भारत में महिलाएं क्रिकेट खेलकर अपना करियर नहीं बना सकतीं इस परंपरा को बदलने का प्रयास उन्होंने किया, ताकि अगली पीढ़ी की लड़कियों के लिए खेल का मैदान बेहतर हो। उनका जीवन इस बात का जीवंत प्रमाण है कि जुनून और दृढ़ता किसी भी प्रतिकूलताओं पर विजय प्राप्त करती है।

प्रतिकूल परिस्थितियों में अपने देश को गौरवान्वित करने का सपना देखकर उसे पूरा करना भारतीय क्रिकेटर झूलन गोस्वामी के लिए इतना आसान नहीं था। उन्होंने अपनी मेहनत, जुनून और दृढ़ता के दम पर अपनी सफलता की कहानी लिखी है। Indian Cricketer Jhulan Goswami आज लाखों युवाओं के लिए एक प्रेरणास्त्रोत है।

सामान्य प्रश्न:

Que: झूलन गोस्वामी कौन हैं?

Ans: झूलन निशित गोस्वामी एक भारतीय अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेटर और भारत की राष्ट्रीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान हैं, जो अपने टीम के लिए तेज गेंदबाजी करती है।

Que: झूलन गोस्वामी की गेंदबाजी की गति (Bowling Speed) क्या है?

Ans: झूलन गोस्वामी 115 से 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करती है।

Que: झूलन गोस्वामी की उम्र (Age)कितनी है?

Ans: 39 साल (2022 तक)

Que: झूलन गोस्वामी की बायोपिक का नाम क्या है?

Ans: पूर्व भारतीय कप्तान Jhulan Goswami की Biopic का नाम चकड़ा एक्सप्रेस (Chakda ‘Xpress) है, जिसमे बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा झूलन गोस्वामी का किरदार निभा रही है। यह फिल्म अगले साल 02 फरवरी 2023 को सिनेमाघरों में दस्तक देगी।

Default image

D DEEPAK

मेरा नाम दिपक देवरुखकर हैं, और मैं महाराष्ट्र के मुंबई शहर विरार का रहने वाला हूँ। मैंने Visual and Communication Art, Worli, Mumbai से डिप्लोमा किया हैं। और अभी मै एक Advertising Agency में As A Graphic Visualizer के रूप में काम कर रहा हु। मुझे पढ़ने और लिखने का शौक है।

Articles: 25

Leave a Reply

%d bloggers like this: